पल्लीकल और चिनप्पा को रजत से करना पड़ा संतोष

गोल्ड कोस्ट। ग्लास्गो में स्वर्ण पदक जीतने वाली दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा की महिला युगल जोड़ी राष्ट्रमंडल खेलों में आज यहां अपना खिताब का बचाव करने में नाकाम रही और इस तरह से भारत ने स्क्वाश में अपने अभियान का अंत दो रजत पदक के साथ किया। चार साल पहले ग्लास्गो में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाली पल्लीकल और चिनप्पा की जोड़ी खिताबी मुकाबले में न्यूजीलैंड की जोली किंग और अमांडा लांडर्स मर्फी से 9-11, 8-11 से हार गयी।
भारतीय जोड़ी रेफरी के कुछ फैसलों से साफ तौर पर नाखुश दिख रही थी। पल्लीकल ने कल मिश्रित युगल फाइनल में भी रेफरिंग पर सवाल उठाये थे जब उन्हें और सौरव घोषाल को आस्ट्रेलिया की डोना उर्कहार्ट और कैमरन पिल्लै से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा था। अगर पदकों की बात करें तो यह भारतीय स्क्वाश टीम का राष्ट्रमंडल खेलों में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। स्क्वाश को 1998 में राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किया गया था।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *