Welcome Guest !

ट्रेन के कबाड़ को जोड़कर बनाई ये कलाकॄति बनी आकर्षण का केन्द्र

बिहार और झारखण्ड (DID NEWS) सहरसा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के कबाड़ को जोड़कर बनाई विभिन्न कलाकॄति आकर्षण का केन्द्र बन गई है। स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में मेक इन इंडिया, तोप, सैनिक और गैंगमेन की लगाई गई इन कलाकृतियों से स्टेशन की खूबसूरती बढ़ गई है।समस्तीपुर मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी के निर्देश पर सहरसा स्टेशन पर पहली बार इस तरह की खूबसूरत और रचनात्मक कार्य के लिए प्रेरित करने वाली कलाकॄति लगाई गई है। कलाकृति समस्तीपुर रेल डीजल शेड में सीनियर डीएमई महानंद झा के मार्गदर्शन में बेकार पड़े इंजन के पार्टस से तैयार किया गया है। कलाकॄति को बनाने पर रेलवे का एक भी रुपया खर्च नहीं हुआ है। इन कलाकॄति के जरिए जहां स्टेशन की सुंदरता बढ़ेगी। वहीं कलाकृति के माध्यम से यात्रियों को ऐतिहासिक जानकारियों से रूबरू होने का मौका मिलेगा। कलाकॄति के जरिए लोगों का कौशल विकास भी होगा।मेक इन इंडिया की कलाकृति देख लोगों में देश के लिए रचनात्मक सोच विकसित करने की भावना जगेगी। वहीं तोप देखकर लोगों और नई पीढ़ी को यह पता चलेगा कि इसी का उपयोग करते राजा महाराजा पुराने जमाने में अपने रजवाड़ा की रक्षा करते थे। सैनिक(सोल्जर) की कलाकॄति देशभक्ति की प्रेरणा जगाने के साथ-साथ यह याद कराएगा कि सीमा की रक्षा करने वाले सैनिक हैं तब हम लोग सुरक्षित हैं। गैंगमेन की कलाकॄति यह याद दिलाएगी कि दिन रात मेहनत कर रेलवे का गैंगमेन किस तरह से सुरक्षित ट्रेन परिचालन सुनिश्चित कराने में महत्वपूर्ण योगदान निभाता है।
समस्तीपुर डीजल शेड से आई सभी कलाकृतियों को स्टेशन के प्लेटफार्म एक तरफ सर्कुलेटिंग एरिया में एडीईएन मनोज कुमार और एएमई प्रशांत कुमार के निर्देश पर कर्मियों ने रखा। सीनियर डीएमई डीजल महानंद झा के निर्देश पर कर्मी कलाकृति का रंगरोगन भी कर रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *