Welcome Guest !

दिल्लीः गैंगस्टर नीरज बवाना गिरोह के नौ सदस्य गिरफ्तार, तीन लक्जरी कार बरामद

दिल्ली पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए गैंगस्टर नीरज बवाना गिरोह के 9 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से 3 लक्जरी कार समेत भारी मात्रा में गोला-बारूद और हथियार बरामद किया है।
हरियाणा और दिल्ली में राजेश बवाना व नीरज बवाना गिरोह के गुर्गों के बीच कभी भी गैंगवार हो सकती है। दिल्ली की जेल में बंद एक-दूसरे के दुश्मन नीरज बवाना और भौंडसी की जेल में बंद राजेश बवाना ने जेल से ही अपने गुर्गों को एक माह पहले खून खराबा करने के निर्देश दिए हैं। यह खुलासा सीआईए 2 द्वारा पकड़े गए राजेश बवाना गिरोह के चार बदमाशों ने पूछताछ में किया है। इसके लिए दोनों गिरोह के गुर्गों ने हाल ही में यूपी से हथियार भी खरीदे हैं। रोहतक पुलिस खून खराबा रोकने के लिए दिल्ली पुलिस को भी पत्र भेजेगी।
यह था मामला
सीआईए 2 प्रभारी आजाद सिंह की टीम ने शुक्रवार को खरड़ गांव के पास से राजेश बवाना गिरोह के 25 हजार के इनामी दिल्ली के मदनपुर निवासी हरविंद्र, माडोढी निवासी 25 हजार के इनामी अजीत, दिल्ली के कुतुबगढ़ निवासी जैकी और झज्जर के गोला के रहने वाले संदीप को गिरफ्तार किया था। बदमाशों के पास से पिस्तौल और कारतूस बरामद किए गए थे। पुलिस चारों बदमाशों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही थी।
बता दें कि नीरज और राजेश बवाना दिल्ली के इनामी बदमाश रहे हैं। नीरज वर्तमान में दिल्ली जबकि राजेश भौंडसी जेल में बंद है। दोनों के अपने-अपने गिरोह हैं। गिरोह में हरियाणा के अलावा यूपी, दिल्ली के पचास से अधिक गुर्गे शामिल हैं, जो लूट से लेकर रंगदारी, हत्या की वारदात को अंजाम देते हैं । प्रॉपर्टी पर कब्जा करने को लेकर भी दोनों गिरोह जाने जाते हैं। दोनों के बीच पिछले करीब तीन साल से दुश्मनी चली आ रही है। एक दूसरे के क्षेत्र में वारदात को अंजाम देने को लेकर दोनों के गुर्गों के बीच दिल्ली में तीन बार खून खराबा भी हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *