Welcome Guest !

राजनीति

मोदी-ओली ने जोगबनी-विराटनगर ICP का किया उद्घाटन

मोदी-ओली ने जोगबनी-विराटनगर ICP का किया उद्घाटन

राजनीति
राजनीति ( DiD News ) : प्रधानमंत्री और उनके नेपाली समकक्ष के पी शर्मा ओली ने मंगलवार को जोगबनी-विराटनगर में दूसरी एकीकृत निगरानी चौकी का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया। इसका निर्माण व्यापार और लोगों की आवाजाही की सुगमता के लिये भारत की सहायता से किया गया है। एकीकृत चौकी 260 एकड़ क्षेत्र में फैली है और यहां की क्षमता प्रतिदिन 500 ट्रक है। परियोजना की लागत 140 करोड़ रुपये आई है। इससे व्यापार में सुधार होगा तथा जनता के बीच संपर्क बेहतर होगा।पहली एकीकृत निगरानी चौकी का निर्माण वर्ष 2018 में रक्सौल-वीरगंज में हुआ था।
NPR बैठक में हिस्सा नहीं लेगा बंगाल

NPR बैठक में हिस्सा नहीं लेगा बंगाल

राजनीति
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि उनका राज्य 17 जनवरी को नयी दिल्ली में केन्द्र सरकार द्वारा बुलाई गई राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) की बैठक में हिस्सा नहीं लेगा। उन्होंने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को चुनौती दी कि वह केन्द्र सरकार के इशारों पर नहीं चलने के लिए राज्य सरकार को ‘‘बर्खास्त’’ कर दें।एनपीआर, संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का लगातार मुखर विरोध कर रही बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार ने पहले ही राज्य में एनपीआर को अपडेट (अद्यतन) करने की प्रक्रिया पर रोक लगा दी है। एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘केन्द्र सरकार ने 17 जनवरी को एनपीआर पर बैठक बुलाई है। मैं नहीं जाऊंगी और न ही मेरी सरकार का कोई प्रतिनिधि उस बैठक में शामिल होगा।’’
बिहार में NRC का कोई सवाल ही नहीं:नीतीश कुमार

बिहार में NRC का कोई सवाल ही नहीं:नीतीश कुमार

राजनीति
 राजनीति (DID NEWS) कानून और एनआरसी को लेकर सोमवार को विपक्ष ने पटना में विधानसभा के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य विधानसभा में कहा कि बिहार में नेशनल रजिस्टार ऑफ़ सिटीजंस (एनआरसी)  का कोई सवाल ही नहीं, यह असम के संदर्भ में ही चर्चा में था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस पर सफाई दी है। जनता दल(यूनाइटेड) के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर एनआरसी और सिटीजनशिप एमेंडमेंट एक्ट (सीएए) के ख़िलाफ़ पहले से आवाज़ उठाते रहे हैं।
देश में लागू हुआ नागरिकता संशोधन कानून

देश में लागू हुआ नागरिकता संशोधन कानून

राजनीति
राजनीति (DID NEWS) देशभर में नागरिकता संशोधन कानून लागू (सीएए) हो गया है। इस कानून के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से गैर मुस्लिम (हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई) शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता प्रदान की जाएगी। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने 10 जनवरी को नोटिफिकेशन के जरिए सीएए को लागू होने की अधिसूचना जारी की।नागरिकता संशोधित कानून किसी भी धर्म के मौजूदा भारतीय नागरिकों को प्रभावित नहीं करता है। यह 2014 तक भारत में मौजूद प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने से संबंधित है, न कि किसी व्यक्ति से नागरिकता छीनता है।
गृह मंत्री  के संरक्षण में हुई जेएनयू में हिंसा: कांग्रेस

गृह मंत्री के संरक्षण में हुई जेएनयू में हिंसा: कांग्रेस

राजनीति
राजनीति ( DiD News ) : कांग्रेस ने गृह मंत्री पर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हमला करने वालों को संरक्षण देने का आरोप लगाया और कहा कि इस मामले की न्यायिक जांच होनी चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, 'मोदी जी और अमित शाह जी ने छात्रों पर दमन चक्र चलाकर नाजी शासन की याद 90 साल बाद दिला दी। जिस तरह से छात्रों, छात्राओं और शिक्षकों पर हमला किया गया और जिस प्रकार पुलिस मूकदर्शक बनी रही, वह दिखाता है कि देश में प्रजातंत्र का शासन नहीं बचा है।' उन्होंने कहा कि युवा प्रजातंत्र और संविधान पर हमले के खिलाफ आवाज उठाते हैं तो उनकी आवाज दबाई जाती है। जान लीजिए मोदी, युवाओं की आवाज नहीं दबने वाली है। सरकार प्रायोजित आतंकवाद और गुंडागर्दी नहीं चलने वाली है।
देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं मोदी: ओवैसी

देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं मोदी: ओवैसी

राजनीति
राजनीति (DID News ) :  एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय नागरिक पंजी और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को लेकर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया। ओवैसी ने यह आरोप भी लगाया कि प्रधानमंत्री इन कदमों से देश को बांटना चाहते हैं तथा संविधान को नष्ट कर रहे हैं।    
सरकार ने शुरू की अटल जल योजना

सरकार ने शुरू की अटल जल योजना

राजनीति
राजनीति ( DiD News ) : मोदी सरकार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिन के मौके पर दो महत्वपूर्ण योजनाओं की शुरुआत कर रही है. ये योजनाएं अटल भूजल और अटल टनल नाम से शुरू की जा रही है. इसके लिए केंद्र सरकार 6,000 करोड़ रुपये आवंटित करेगी. दोनों ही योजनाओं की शुरुआत वाजपेयी के जन्मदिवस यानी बुधवार को होगी. इस योजना का लाभ छह राज्यों को होगा. इस योजना में उतर प्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र शामिल हैं. सरकार का दावा है कि इस योजना से किसानों की आय दोगुनी करने में सहायता मिलेगी. इस योजना से 8,350 गांवों को लाभ मिलेगा.
एनपीआर को मोदी सरकार ने मंजूरी  दी

एनपीआर को मोदी सरकार ने मंजूरी दी

राजनीति
राजनीति (DiD News ) : एनपीआर को मोदी सरकार ने मंजूरी दे दी है। सूत्रों के हवाले से बताया है कि  केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में एनपीआर को मंजूरी दे दी गई है। सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक इस बार एनपीआर के लिए आंकड़े इकट्ठा करने का काम 1 अप्रैल 2020 से शुरू होगा और 30 सितंबर तक किया जाएगा।    इसमें देश के निवासियों से जुड़ी हर तरह की जानकारी होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी को अद्यतन करने के लिए 8,500 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की गई ।
प्रणब मुखर्जी की अपील

प्रणब मुखर्जी की अपील

राजनीति
राजनीति (DID NEWS) पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने लोकसभा की सीटें 543 से बढ़ा कर 1000 करने और राज्यसभा की सीटें भी बढ़ाने की सोमवार को हिमायत की। मुखर्जी ने इसके पीछे यह दलील दी कि भारत में निर्वाचित जन प्रतिनिधियों के लिए मतदाताओं की संख्या आनुपातिक रूप से बहुत ज्यादा है। इंडिया फाउंडेशन द्वारा आयोजित द्वितीय अटल बिहारी वाजपेयी स्मृति व्याख्यान देते हुए उन्होंने सत्तारूढ़ दलों को ‘‘बहुसंख्यकवाद’’ के खिलाफ आगाह किया। उन्होंने कहा कि लोगों ने उन्हें संख्यात्मक बहुमत दिया होगा लेकिन अधिकतम मतदाताओं ने कभी किसी एक पार्टी को समर्थन नहीं दिया। उन्होंने लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराए जाने पर अपना संदेह भी जताया। उन्होंने कहा कि यह संवैधानिक संशोधनों के बाद किया जा सकता है लेकिन इसकी कोई गारंटी नहीं है कि निर्वाचित सदस्य भविष्य में किसी सरकार पर भरोसा नहीं खोएंगे। पूर्व राष्ट्रपति ने कहा
हमारी सेना ने जो इतिहास रचा, वह सदा स्वर्णाक्षरों में अंकित रहेगा: प्रधानमंत्री

हमारी सेना ने जो इतिहास रचा, वह सदा स्वर्णाक्षरों में अंकित रहेगा: प्रधानमंत्री

राजनीति
राजनीति (DID NEWS) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध में भारत को जीत दिलाने वाले सैन्य बलों की सोमवार को विजय दिवस पर प्रशंसा की और कहा कि सेना ने जो इतिहास रचा है वह स्वर्ण अक्षरों में अंकित रहेगा। वर्ष 1971 में आज के दिन 90,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के आगे आत्मसमर्पण कर दिया था। इसके साथ ही भीषण लड़ाई का अंत हो गया था।  मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘विजय दिवस पर भारतीय सैनिकों के साहस, शौर्य और पराक्रम को नमन करता हूं। 1971 में आज के दिन हमारी सेना ने जो इतिहास रचा, वह सदा स्वर्णाक्षरों में अंकित रहेगा।’’