Friday, March 5Welcome Guest !

बेसुध होकर बिस्तर पर पड़े हैं पद्म श्री के लिए चुने गए मोहम्मद शरीफ, परिवार को मदद का इंतजार

उत्तरप्रदेश SPECIAL (DID NEWS):  उत्तर प्रदेश के फैजाबाद निवासी 83 वर्षीय मोहम्मद शरीफ के बारे में कौन नहीं जानता। मोहम्मद शरीफ पिछले 25 वर्षों से 25 हजार से ज्यादा लावारिस शवों का अंतिम संस्कार करवा चुके हैं। एक साल पहले तक शायद ही उन्हें कोई नहीं जानता होगा। पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित होने के ऐलान के बाद उन्हें हर कोई जाने लगा। लेकिन यह बात भी सच है कि पुरस्कार से सम्मानित होने का ऐलान हुए 1 साल से अधिक समय हो गया लेकिन अब तक ना तो उन्हें पदक मिली है और ना ही प्रशस्ति पत्र।

मोहम्मद शरीफ के बेटे शगीर ने कहा कि उन्हें पिछले साल केंद्रीय गृह मंत्रालय से एक पत्र मिला था जिसमें उनके पिता को सूचित किया गया था कि उन्हें पद्म श्री पुरस्कार के लिए चुना गया है। शगीर ने कहा कि 31 जनवरी, 2020 की तिथि वाले पत्र में केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने कहा कि पुरस्कार देने की तारीख जल्द बतायी जाएगी।