Monday, May 23Welcome Guest !

गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर दिल्ली पुलिस समेत सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से अलर्ट

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस समारोह के लिए पूरी दिल्ली में सुरक्षा के बेहद कड़े बंदोबस्त किए गए है। सभी केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों, पड़ोसी राज्यों के पुलिस अधिकारियों, केंद्रीय सुरक्षा बलों और अन्य विभागों के साथ बेहतर समन्वय बनाकर दिल्ली पुलिस पिछले दो महीने से हर संभावित खतरों से निपटने की तैयारी कर चुकी है। दिल्ली पुलिस समेत सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से अलर्ट है। सभी 26 मापदंड को अमल में लाते हुए आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए व्यापक तौर पर कदम उठाए जा रहे हैं।

पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने रविवार को पत्रकारवार्ता में कहा कि दिल्ली पुलिस सभी तरह के संभावित आतंकी खतरों से निपटने को तैयार है। सुरक्षा के मद्देनजर शहर में नाकाबंदी कर दी गई है। 15 दिन से दिल्ली की सभी सीमाओं पर वाहनों की सघन जांच की जा रही है। होटल, धर्मशाला, गेस्ट हाउस, साइबर कैफे, पार्किंग आदि की नियमित जांच की जा रही है। घरेलू सहायकों, किरायेदारों, चालकों और कामगारों के सत्यापन का काम किया जा रहा है।

ड्रोन आदि के उड़ान पर पहले ही प्रतिबंध लगा दिया गया है। सुरक्षा के लिए एंटी ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। सभी जिले के डीसीपी से कहा गया है कि वे अपने-अपने इलाके में बाजारों, बस अड्डा, रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशनों, महत्वपूर्ण भवनों और जगहों पर लगातार चे¨कग कराते रहें। सड़कों पर अधिक से अधिक पुलिसकर्मियों की मुस्तैदी बढ़ाने की हिदायत दी गई है।

 

— 28 हजार जवानों को लगाया गया है नई दिल्ली जिला, परेड ग्राउंड राजपथ और लालकिले की सुरक्षा में

— 65 कंपनियां और अधिकारी भी शामिल हैं

– अर्ध सैनिक बलों की 71 डीसीपी और एडिशनल डीसीपी स्तर के अधिकारी मुस्तैद

– 213 एसीपी, 753 इंस्पेक्टर और बड़ी संख्या में सब इंस्पेक्टर तैनात