Monday, May 23Welcome Guest !

गुजरात कांग्रेस ने शुरू की इंदिरा मोबाइल क्‍लीनिक और आइसीयू वैन

अहमदाबाद,  देश के विभिन्न राज्यों में इंदिरा रसोई के बाद गुजरात कांग्रेस के नेता राज्य में इंदिरा मोबाइल क्लीनिक तथा इंदिरा आईसीयू वैन शुरू करने जा रही है, विपक्ष के नेताओं की ओर से शायद यह पहली बार होगा जो अपने ट्रस्ट के माध्यम से जनता को मोबाइल क्लीनिक तथा आईसीयू वैन उपलब्ध कराएंगे।

गुजरात राहत समिति के बैनर तले गुजरात कांग्रेस के प्रभारी डा. रघु शर्मा तथा प्रदेश अध्यक्ष जगदीश ठाकोर शुक्रवार को प्रदेश कार्यालय से इंदिरा मोबाइल क्लीनिक तथा इंदिरा आईसीयू वैन को हरी झंडी दिखाएंगे। राहत समिति के प्रबंधक न्यासी अर्जुन मोढवाडिया ने बताया है कि कोरोना महामारी की तीसरी लहर के बीच जनता को सीधे स्वास्थ्य सुविधाएं तथा आधुनिक तकनीक से सुसज्जित आईसीयू में उपलब्ध कराने के इरादे से इंदिरा मोबाइल क्लीनिक तथा इंदिरा आईसीयू अगेन की शुरुआत की गई है। प्रथम चरण में तीन इंदिरा मोबाइल क्लीनिक तथा तीन इंदिरा आसीयू वैन चलाए जाएंगे।

मोबाइल क्लीनिक में पैरामेडिकल स्टाफ दवाएं, प्राथमिक उपचार के सभी मेडिकल उपकरण आदि उपलब्ध होंगे। जबकि इंदिरा आईसीयू वैन ऑक्सीजन सिलेंडर वातानुकूलित केबिन तथा पैरामेडिकल स्टाफ आदि से युक्त होगा। मोबाइल क्लीनिक एवं आईसीयू वैन आधुनिक तकनीक, दवाओं, पैरामेडिकल स्टाफ आदि से सुज्जित होंगे।

मोढवाडिया ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान राज्य में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई। कोरोना संक्रमित को अस्पताल में बैठ नहीं मिल रहा था कहीं इंजेक्शन नहीं मिल रहा था तो किसी के परिवार जनों की मौत किस लिए हो गई क्योंकि आक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध नहीं था। गुजरात में महामारी के इस दौर में भारी जान माल का नुकसान देखा है। कांग्रेस नेताओं ने हमेशा आगे बढ़कर लोगों को महामारी से बचाने का प्रयास किया। कांग्रेस के कई नेताओं की मौत सेवा करते हुए कोरोना संक्रमित होने के कारण हुई।

मोढवाडिया का कहना है कि प्रदेश के ग्रामीण एवं आदिवासी इलाकों में आज ही स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है गुजरात कांग्रेस नेताओं ने गरीब पिछड़े एवं आदिवासी लोगों को घर पर ही स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के इरादे से इंदिरा मोबाइल क्लीनिक शुरू किया है। लोगों को कोरोना की गंभीर हालत में अस्पताल लाने से पहले ही आईसीयू जैसी सुविधाएं उपलब्ध करा दी जाती है तो बड़ी संख्या में लोगों की जान बचाई जा सकेगी। इंदिरा मोबाइल क्लीनिक एवं इंदिरा आई सी यू वैन जरूरत के हिसाब से गांव एवं शहरों में भेजी जाएगी यह पहले चरण में शुरू किया गया प्रयास है आगामी दिनों में इन सुविधाओं का और विस्तार किया जाएगा।