Thursday, September 23Welcome Guest !

दिल्ली में भी लागू किया जाए जनसंख्या नियंत्रण कानून

पालम गांव  की शिव मंदिर चौपाल में एक बड़ी पंचायत का आयोजन किया गया. यहां पालम गांव की तरफ से पालम- 360 के नवनियुक्त प्रधान चौधरी सुरेंद्र सोलंकी  ने दिल्ली में भी जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू कराए जाने की मांग का बड़ा फैसला लिया. चौधरी सुरेंद्र सोलंकी ने कहा कि दिल्ली में भी जल्द से जल्द जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू किया जाना चाहिए. दिल्ली देश की राजधानी है और यहां लगातार जनसंख्या वृद्धि से बुनियादी सुविधाओं की कमी बढ़ती जा रही है. जल्द जनसंख्या नियंत्रण कानून को लागू नहीं किया गया तो आने वाले समय में बहुत बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ेगा.
उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान इसका उदाहरण देखने को मिला. इतनी बड़ी जनसंख्या को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना कितनी बड़ी चुनौती बन गई है. आगे ऐसी मुश्किलों का सामना न करना पड़े, इसके लिए जनसंख्या नियंत्रण पर ध्यान देना बहुत जरूरी है.
इसके अलावा पंचायत में जो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए उनमें कहा गया कि भ्रूण हत्या पर तुरंत रोक लगाई जानी चाहिए, एक ही गोत्र और एक ही गांव में विवाह नहीं करना चाहिए. मास्टर प्लान 2041 के लागू होने से पहले सरकार को ग्रामवासियों से चर्चा करनी चाहिए. यहां जमीनों के म्यूटेशन पर जो रोक लगी है उसे हटाया जाना चाहिए क्योंकि इससे ग्रामीणों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है. साथ ही यह भी मांग की गई कि ग्राम सभा की जमीन सबसे पहले ग्राम वासियों की सुविधाओं और गांव के विकास के लिए ही इस्तेमाल में लाई जानी चाहिए. गांव के विकास के लिए बैंकों में जमा 4000 करोड़ रुपये की राशि को भी सामाजिक पंचायतों के माध्यम से ग्रामीण विकास के कार्यों पर ही खर्च किया जाना चाहिए.
चौधरी सुरेंद्र सोलंकी ने कहा कि पालम गांव में ‘होलिका दहन’ के लिए सार्वजनिक स्थान के लिए दिल्ली के उप राज्यपाल से आग्रह किया है. इसके अलावा यहां के गांवों में पानी की भी बहुत किल्लत रहती है. इस पर भी ध्यान दिए जाने के लिए सरकार से मांग की है. पंचायत में मौजूद बुजुर्गों ने नवनियुक्त प्रधान सुरेंद्र सोलंकी को अपना आशीर्वाद देकर कहा कि पालम-360 के ऐतिहासिक पंचायत का नेतृत्व बड़े बुजुर्गों ने बहुत ही परंपरा और मान सम्मान के निर्वहन के साथ किया है. पूर्ण विश्वास है कि चौधरी सुरेंद्र सोलंकी भी पालम 360 की पगड़ी और इसके मान सम्मान को बढ़ाने का ही काम करेंगे.