Thursday, September 23Welcome Guest !

पुलिसकर्मी पर हमले के 12 घंटे के अंदर तीन आरोपी गिरफ्तार

मध्य प्रदेश में अगले 24 घंटे में भारी बारिश हो सकती है। भोपाल, होशंगाबाद संभाग में 5 इंच के लगभग बारिश होने का अनुमान जताया गया है। अलर्ट के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है। नदियों और झरने वाले स्पॉट्स पर नजर रखी जा रही है। लोगों को चेतावनी दी गई है। होशंगाबाद में नर्मदा का जलस्तर सेठानी घाट पर 0.7 फीट तक बढ़कर 935 फीट पर पहुंच गया है। यहां खतरे का निशान 967 फीट पर है। बैतूल, छिंदवाड़ा में तेज बारिश के चलते तवा डैम तेजी से भर रहा है। 24 घंटे में सात फीट पानी बढ़ गया है। यह अब 32 फीट खाली है। उधर, पिछले 24 घंटे में छतरपुर में बारिश में बहने से 1 जबकि पन्ना में बिजली गिरने से 1 युवक की मौत हो गई।

मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में रात से ही बारिश हो रही है। इसकी वजह से नदियां और नाले उफान पर हैं। वाटर फाॅल शुरू हो गए हैं। सबसे ज्यादा राहत मिली है भोपाल और इंदौर को। भोपाल में करीब 22 दिन के इंतजार के बाद सुकून देने वाली बारिश शुरू हो गई। गुरुवार को रुक-रुक कर शहर में बारिश होती रही, तो रात को बारिश ने रफ्तार पकड़ी। शुक्रवार सुबह तेज बारिश ने पूरे शहर को तरबतर कर दिया। इंदौर में 24 घंटे में 9.7 मिमी बारिश हुई। हालांकि जुलाई का कोटा यहां भी पूरा नहीं हुआ है। इधर, मौसम विभाग ने शनिवार सुबह तक प्रदेश के 11 जिलों में भारी से अति भारी बारिश और बिजली गिरने की संभावना के मद्देनजर रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं भोपाल, देवास समेत 18 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, विदिशा, रायसेन, सीहोर, मंडला, उमरिया, डिंडोरी, जबलपुर, छिंदवाड़ा आदि जिलों में कहीं-कहीं शनिवार सुबह तक साढ़े 4 इंच तक(115 मिमी) या इससे ज्यादा बारिश हो सकती है।- भोपाल, राजगढ़, शाजापुर, देवास, आगर, नीमच, मंदसौर, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, सिंगरौली, सीधी, रीवा, अनूपपुर, शहडोल, सिवनी, बालाघाट और सागर जिलों में शनिवार सुबह तक ढाई इंच से साढ़े चार इंच(65 मिमी से 115 मिमी) तक बारिश की चेतावनी दी गई है।मौसम विभाग के मुताबिक, भारी और अति भारी बारिश की चेतावनी वाले जिलों के अलावा अन्य सभी जिलों के अधिकांश हिस्सों में सामान्य बारिश का सिलसिला चलता रहेगा।

मौसम विभाग के अनुसार, अभी तीन-चार दिन तक पानी गिरेगा। कभी रुक-रुक कर तो की तेज बारिश होगी। एक और अच्छी खबर यह है कि 27 जुलाई को भी एक लो प्रेशर एरिया बन रहा है। अगर वह बनता है, तो जुलाई के अंत में पूरे सप्ताह पानी गिर सकता है। भोपाल में 24 घंटे में 60 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गुरुवार-शुक्रवार को रात का पारा दो डिग्री लुढ़क कर करीब 23.2 डिग्री सेल्सियस पर आ गया।