Thursday, October 28Welcome Guest !

ब्रिटेन से भारत आने वालों के लिए ब्रिटेन ने बदली ट्रैवेल एडवाइजरी

लंदन,  ब्रिटिश आगंतुकों पर पारस्परिक प्रतिबंध लगाने के भारत के फैसले के बाद भारत की यात्रा करने वाले अपने नागरिकों के लिए ब्रिटिश सरकार ने शनिवार को अपनी ट्रैवेल एडवाइजरी (आधिकारिक सलाह) को अपडेट किया है। यह एडवाइजरी सोमवार से लागू होगी। ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि वह समस्या का समाधान निकालने के लिए भारतीय अधिकारियों के साथ संपर्क में है।

10 दिन की अनिवार्य क्वारंटाइन

ब्रिटेन के फारेन, कामनवेल्थ एंड डेवलपमेंट आफिस (एफसीडीओ) द्वारा जारी अद्यतन एडवाइजरी के अनुसार ब्रिटेन से भारत जाने वालों को 10 दिन की अनिवार्य क्वारंटाइन में रहने और आठवें दिन एक अतिरिक्त कोरोना टेस्ट कराना होगा।

भारत की सख्‍ती के बाद उठाया कदम

दरअसल भारत ने ब्रिटेन द्वारा भारतीय यात्रियों पर लगाए गए प्रतिबंधों के बाद जवाबी प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। भारत सरकार की घोषणा के एक दिन बाद ब्रिटेन एडवाइजरी को अपडेट किया गया है। भारत की घोषणा के बाद ब्रिटेन से भारत आने वाले सभी ब्रिटिश नागरिकों को सोमवार से 10 दिन के क्वारंटाइन से गुजरना होगा। भले ही उनके टीकाकरण की स्थिति कुछ भी हो।

ब्रिटिश नागरिकों को पालन करने होंगे ये नियम

ब्रिटिश नागरिकों के लिए जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि भारत में आने वाले सभी यात्रियों को अपनी टीकाकरण की स्थिति के बावजूद हवाई अड्डे पर आगमन पर और आगमन के आठ दिन बाद अपनी लागत पर एक कोरोना आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा।

भारतीय अधिकारियों की ओर से की जाएगी निगरानी 

इसके अलावा वे जिस पते पर जाएंगे वहां उन्हें दस दिन के लिए अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन होना पड़ेगा। यही नहीं क्वारंटाइन रहने के दौरान ऐसे सभी यात्रियों की नियमित रूप से राज्य/जिला स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा निगरानी की जाएगी। उल्लेखनीय है ब्रिटेन ने अभी तक भारत के वैक्सीन प्रमाणन को मान्यता नहीं दी है। ऐसे में भारतीय यात्रियों के ब्रिटेन जाने पर प्रतिबंधों से गुजरना पड़ रहा है।