Thursday, October 28Welcome Guest !

यूएन के मंच से चीन और पाक को नसीहत, PM मोदी के संबोधन की खास बातें

संयुक्त राष्ट्र, संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को बिना नाम लिए चीन और पाकिस्तान पर जमकर निशाना साधा। पाकिस्तान के संदर्भ में पीएम मोदी ने कहा कि राजनीतिक हथियार के तौर पर आतंकवाद का इस्तेमाल करने वाले देशों को समझना चाहिए कि यह उनके लिए भी उतना ही बड़ा खतरा है। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने सात साल से अधिक के कार्यकाल में चौथी बार संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने कहा कि यह सुनिश्चित करना बेहद जरूरी है कि अफगानिस्तान की भूमि का आतंकवाद के प्रसार और आतंकी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल न हो। हमें यह भी सुनिश्चित करने की जरूरत है कि अफगानिस्तान की नाजुक स्थिति का कोई देश लाभ न उठा पाए और उसे अपने निहित स्वार्थो के लिए इस्तेमाल न कर सके।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘अफगानिस्तान की महिलाओं, बच्चों और अल्पसंख्यकों को मदद की जरूरत है। और हमें यह मदद उपलब्ध कराकर अपना कर्तव्य पूरा करना चाहिए।’

चीन को चेतावनी

22 मिनट के अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र के संदर्भ में कहा कि ये अंतरराष्ट्रीय व्यापार की जीवनरेखा भी हैं। हमें विस्तारवाद की दौड़ से उनकी रक्षा करनी चाहिए। नियम आधारित विश्व व्यवस्था को मजबूत करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक सुर में बोलना चाहिए। हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हमें समुद्री संसाधनों का सिर्फ उपयोग करना है और उनका दुरुपयोग या अति दोहन नहीं करना चाहिए। बता दें कि चीन हिंद प्रशांत क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति लगातार मजबूत कर रहा है।