Saturday, January 29Welcome Guest !

वडोदरा में नहीं मिला ओमिक्रोन वैरिएंट का एक भी मामला

अहमदाबाद,  गुजरात के वडोदरा में अब तक ओमिक्रोन वैरिएंट का एक भी मामला सामने नहीं आया है जबकि इस वैरिएंट के उच्‍च जोखिम वाले देशों से अब तक 85 यात्री यहां आये हैं। वडोदरा के उप नगर आयुक्‍त सुधीर पटेल ने बताया कि इन सभी को एसओपी के अनुसार होम क्‍वारंटाइन में रहने का निर्देश दिया गया है। आठवें दिन इनका आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाएगा।

गौरतलब है कि गुजरात के जामनगर में विदेश से लौटा एक एनआरआइ ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित पाया गया है। उसकी पत्‍नी और बहनोई कोरोना से संक्रमित पाये गए हैं। दोनों के नमूने जीनोम टेस्टिंग के लिए भेजे गए हैं। जामनगर नगर निगम के अनुसार दोनों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। बता दें कि विदेश से लौटा 72 वर्षीय एनआरआइ का 4 दिसंबर को जीनोम टेस्‍ट करवाया गया था। जिम्बाब्वे से लौटा ये व्‍यक्ति ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित है।

जिम्बाब्वे से लौटा ये शख्‍स एक चीनी वैक्‍सीन की दोनों खुराक ले चुका था। जामनगर के एक आइसोलेशन वार्ड में इसे रखा गया है। इनकी पत्‍नी भी जिम्बाब्वे से इनके साथ आयी थीं। इनका बहनोई जामनगर में रहता है जिसके घर दोनों आकर ठहरे थे। बहनोई की रिपोर्ट रविवार को कोरोना पाजिटिव आयी है जबकि परिवार के अन्‍य सदस्‍यों की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। जीनोम अनुक्रमण के लिए दोनों के नमूने गांधी नगर भेज दिए गए हैं। इस जांच के बाद ही पता चल पाएगा की वे ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित हैं या नहीं। नगर निगम ने एहतियात के तौर पर आवासीय सोसायटी को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित कर वहां बैरिकेड्स लगाकर लोगों की आवाजाही को रोक दिया है।

नगर आयुक्त विजयकुमार खराड़ी ने रविवार को निगम के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ इस सोसायटी का दौरा किया था। संक्रमितों का पता लगाने के लिए उन्‍हें इलाके में डोर-टू-डोर सर्वेक्षण और परीक्षण करने के लिए कहा गया है। निर्देश के अनुसार अधिकारियों ने उस क्षेत्र के लोगों को कोविड ​​​​-19 वैक्सीन देने की कवायद भी शुरू कर दी, जिन्होंने अभी तक पहली या दूसरी खुराक नहीं ली है।