Thursday, October 28Welcome Guest !

सूर्य के इन मंत्रों की अराधना करने से पूरी होती हैं सभी मनोकामना

ग्रहों का राजा माने जाने वाले सूर्य को हिंदू धर्म में पंचदेवों में से एक माना गया है. इन्हें जीवन में मान-सम्मान और सफलता का कारक भी माना गया है. हफ्ते का हर एक दिन किसी न किसी भगवान को समर्पित है. इसी तरह रविवार के दिन सूर्य देव की पूजा अर्चना की जाती है. मान्यता है कि रविवार के दिन सूर्य देव को समर्पित कुछ विशेष मंत्रों के जाप से व्यक्ति के जीवन की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. ऐसे ही कुछ मंत्रों के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं. इन 7 शक्तिशाली मंत्रों में से जिन मंत्रों का आप सही से उच्चारण कर सकते हैं और सही से याद कर सकते हैं उनमें से कोई एक मंत्र का जाप रविवार के दिन करना चाहिए. सूर्यदेव आपकी सभी मनोकामना पूर्ण करेंगे.

 

सूर्यदेव के मंत्र (Surya Dev Mantra)

 

ॐ घृ‍णिं सूर्य्य: आदित्य:
ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय सहस्रकिरणराय मनोवांछित फलम् देहि देहि स्वाहा.
ॐ ऐहि सूर्य सहस्त्रांशों तेजो राशे जगत्पते, अनुकंपयेमां भक्त्या, गृहाणार्घय दिवाकर:
ॐ ह्रीं घृणिः सूर्य आदित्यः क्लीं ॐ
ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नमः
ॐ सूर्याय नम:
ॐ घृणि सूर्याय नम:

 

धार्मिक शास्त्रों में सूर्य को एक प्रभावशाली ग्रह माना गया है. इसलिए सूर्य को ग्रहों का राजा भी कहा जाता है. ऊर्जा और आत्मा का कारक होता है सूर्य. कहते हैं कि अगर कुंडली में सूर्य मजबूत स्थिति में है और शुभ ग्रहों से दृष्ट है तो ऐसे जातक राजा के समान होते हैं. कहते हैं कि सूर्य प्रधान व्यक्ति को जीवन में उच्च पद की प्राप्ति होती है और मान-सम्मान मिलता है.

 

 

रविवार को यह उपाय जरूर करें (Ravivar Remedy)

 

रविवार के दिन केसरिया रंग के वस्त्र पहनने चाहिए.

 

संभव हो तो रविवार का व्रत रखें और सूर्यदेव की उपासना करें.

 

सूर्यदेव की कृपा पाने के लिए रविवार के दिन गुड़, लाल पुष्प, तांबा, गेहूं आदि का दान करना चाहिए.

 

माणिक्य रत्न से सूर्य मजबूत होता है. इसलिए कुंडली में कमजोर सूर्य वाले जातक माणिक्य रत्न धारण करें.

 

रविवार के दिन बेल मूल की जड़ी धारण करनी चाहिए और एक मुखी रुद्राक्ष धारण करें. इससे जीवन में खुशहाली आएगी और लाभ होगा.