Tuesday, December 7Welcome Guest !

गायब हुई ‘हवा’ तो फिर जहरीली हो गई दिल्ली

नई दिल्ली (DID News) :- दिल्ली एनसीआर की हवा में घुला जहर फिर से बढ़ गया है। बुधवार के साथ-साथ बृहस्पतिवार को भी वायु गुणवत्ता सूचकांक 300 के पार चला गया है। वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के अनुसार, देश की राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब स्थिति में बनी हुई है। दिल्ली में AQI स्तर 339 है, जो बहुत खराब श्रेणी में ही माना जाता है और यह स्वास्थ्य के लिहाज से खतरनाक है।

बता दें कि मंगलवार को जहां एयर इंडेक्स 300 से नीचे आ गया था वहीं बुधवार को वापस 300 के पार हो गया। हालांकि दिल्ली के पीएम 2.5 प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी अब नहीं के बराबर रह गई है। सफर इंडिया की मानें तो प्रदूषण में वृद्धि की वजह हवा की रफ्तार घटना और स्थानीय प्रदूषक तत्वों का बढ़ना रहा। सफर का पूर्वानुमान है कि अभी अगले दो दिन एयर इंडेक्स की यही श्रेणी बनी रहेगी। 27 नवंबर से हवा की रफ्तार बढ़ेगी तो फिर से प्रदूषण में कुछ राहत मिल सकती है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक द्वारा जारी एयर इंडेक्स के मुताबिक बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 361 रहा। मंगलवार के 290 के मुकाबले यह 71 अंक अधिक था। फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 367, गाजियाबाद का 366, ग्रेटर नोएडा का 312, गुरुग्राम का 305 और नोएडा का 325 दर्ज किया गया। मंगलवार के मुकाबले एनसीआर के इन सभी शहरों के एयर इंडेक्स में भी कुछ अंकों का इजाफा देखने को मिला। सभी जगहों का एयर इंडेक्स बहुत खराब श्रेणी में रिकार्ड हुआ। दिल्ली के ज्यादातर इलाके रेड जोन में रहे। पीएम 2.5 का स्तर 171 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर जबकि पीएम 10 का स्तर 327 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा। बताया जा रहा है कि ठंड बढ़ने के साथ ही वायु प्रदूषण का स्तर भी बढ़ेगा, कुलमिलाकर अगले कुछ दिन और दिल्ली-एनसीआर के लोगों को जहरीली हवा से मुक्ति नहीं मिलने वाली है।